Home Uncategorized पीकेएल-7 : दिल्ली पहली बार फाइनल खेलने के लिए भिडेगी बेंगलुरु से

पीकेएल-7 : दिल्ली पहली बार फाइनल खेलने के लिए भिडेगी बेंगलुरु से

21

अहमदाबाद, । दबंग दिल्ली प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के सातवें सीजन में बुधवार को यहां ट्रांसस्टेडिया स्थित ईका एरेना स्टेडियम में होने वाले पहले सेमीफाइनल मैच में छटे सीजन की चैंपियन बेंगलुरु बुल्स के खिलाफ मैट पर उतरेगी।

दबंग दिल्ली अगर यह मुकाबला जीत जाती है तो वह पीकेएल के हिस्ट्री में वह पहली बार फाइनल में पहुंचेगी। वहीं, बेंगलुरु की कोशिश होगी की वह लगातार दूसरी खिताब बार जीते।

बेंगलुरु ने अपने पिछले मुकाबले में एक्स्ट्रा टाइम तक गए गए मैच में यूपी योद्धा को रोमांचक मैच में हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। दिल्ली की टीम ग्रुप  में पहले स्थान पर रहने के कारण सीधे ही सेमीफाइनल में पहुंच गई थी। पीकेएल के हिस्ट्री में पहली बार ऐसा हुआ है कि दिल्ली की टीम ने लीग को ख़त्म पहले स्थान के साथ किया है।

कृष्ण कुमार हुडा दबंग दिल्ली के कोच ने सेमीफाइनल की पहले की शाम पर आईएएनएस से कहा, “सेमीफाइनल मैच हर टीम जीतने के लिए खेलती हैं क्योंकि इसके बाद फिर वह मौका आपको नहीं मिलता। यह एक नॉक आउट मैच है और दोनों टीमें अपना बेस्ट देने कीे कोशिश करेंगी। सेमीफाइनल में चारों टीमें अच्छी हैं और जो सबसे कम गलती करेगा  वह जीतेगा।”

बेंगलुरु के सर्वश्रेष्ठ रेडर पवन कुमार सहरावत ने पिछले मैच में 20 अंक लेकर एक बार फिर से टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

जब यह पूछा गया की  दिल्ली ने पवन को रोकने के लिए कोई खास रणनीति बनाई है, कोच ने कहा, “रणनीति एक ऐसी चीज है, जिसका खुलासा नहीं किया जा सकता है। हमने पवन और उनकी पूरी टीम के खिलाफ जो रणनीति बनाई है वह आपको मैच मे ही देखने को मिलेगी। मैं विश्वास और यकीन के साथ कहनाचाहता हु की

 बहुत बढ़िया मैच होगा और हम अपने नाम दबंग दिल्ली के अनुरूप खेंलेंगे।”

22 मैचों में 15 जीत के साथ दबंग दिल्ली ने 85 अंक लेकर पहले स्थान के साथ लीग का अंत किया था।  22 मैचों में 11 जीत के साथ बेंगलुरु ने 64 अंक लेकर प्लेआफ में जगह बनाई थी जहां उसने यूपी योद्धा को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

दिल्ली के कोच हुडा ने कहा, “पूरे सीजन में टीम ने कमाल का प्रदर्शन किया है और मुझे विश्वास है कि अब अहम मौके पर भी टीम बिना कोई गलती करे आगे बढ़ेगी। मुझे अपनी खिलाड़ियों और टीम पर पूरा भरोसा है कि इस बार वे फाइनल में पहुंचने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी।  उसके खिलाफ कभी मुकाबला आसान नहीं होता है क्योंकि बेंगलुरु एक मजबूत टीम है और, लेकिन मुझे उम्मीद है कि हमारे खिलाडी अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे।”