Home Uncategorized मुसलमानों को भी धर्मनिरपेक्षता के साथ खड़ा होना चाहिए : प्रकाश

मुसलमानों को भी धर्मनिरपेक्षता के साथ खड़ा होना चाहिए : प्रकाश

432

औरंगाबाद,  वंचित बहुजन अगाडी (वीबीए) के प्रमुख प्रकाश अंबेडकर ने कहा है कि मुसलमान समुदाय को यह समझना चाहिए कि यह विधानसभा चुनाव में राज्य में धर्मनिरपेक्षता की व्यवस्था स्थापित करने का उनके लिए आखिरी मौका है। श्री अंबेडकर ने जिले के विभिन्न विधानसभा सीटों पर अपनी पार्टी के उम्मीदवारों के पक्ष में कल रात यहां आम खास मैदान में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुस्लिम समुदाय से धर्म को अलग रख कर चुनाव लड़ने के लिए उनकी पार्टी के धर्मनिरपेक्ष सिद्धांतों को अपनाने की अपील की।

श्री अंबेडकर ने कहा कि पहले कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बिना कई पार्टियां एक साथ आती थी, लेकिन यह केवल कुछ समय के लिए है। उन्होंने वीबीए राज्य में उभरे धर्मनिरपेक्ष ताकतों में से एक है। उन्होंने कहा, ‘मैं राजनीति में धर्म के प्रति विश्वास नहीं रख रहा हूं, लेकिन मैं अपने सामाजिक करियर में सिद्धांत के रूप में धर्मनिरपेक्षता के मार्ग को स्वीकार कर रहा हूं।’ उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने कई वर्षों तक केवल वोट बैंक के लिए मुसलमानों का इस्तेमाल किया है। मुस्लिम समुदाय को भी पहले से ही एहसास हो गया है लेकिन यह उनके लिए अपनी गलती को सुधारने का आखिरी मौका है। जिसके लिए उन्हें (मुस्लिम समुदाय को) हमारे साथ आना चाहिए।

श्री अंबेडकर ने अपने लंबे भाषण में राज्य की वर्तमान भाजपा-शिवसेना गठबंधन सरकार और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस की कार्यशैली और चुनाव प्रचार में उनकी भाषण देने के तरीके की तीखी आलोचना की। उन्होंने कहा कि एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के साथ-साथ डॉ गफ्फार कादरी भी सज्जन पुरूष हैं। लेकिन उन्होंने एआईएमआईएम के प्रदेश अध्यक्ष और औरंगाबाद के सांसद इम्तियाज जलील का नाम लिए बिना उनकी तीखी आलोचना की। गौरतलब है कि एआईएमआईएम ने पिछले लोकसभा चुनाव में वीबीए से गठबंधन किया था लेकिन इसबार विधान सभा चुनाव में सीट बंटवारे के मुद्दे पर दोनों पार्टियों के बीच कोई समझौता नहीं हाे सका।