Home Uncategorized कैमरे ने कैद की प्रदूषण की तस्वीरें, खुले कर्मचारियों के राज़

कैमरे ने कैद की प्रदूषण की तस्वीरें, खुले कर्मचारियों के राज़

25
pollution caught in camera in ghaziabad

पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) नई दिल्ली के चेयरमैन डॉ भूरेलाल ने गाजियाबाद के आस पास की प्रदूषण से जुडी तस्वीरों को कैमरें में कैद कर जब तस्वीर दिखानी शुरू की तो प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अधिकारियों के आंकड़ों की जादूगरी फेल हो गयी

कर्मचारियों ने जो फाइल बनायीं थी व निकली झूठी लेकिन उन्होंने कुछ अधिकारियों की कार्यवाही के ब्यौरे की रिपोर्ट की तारीफ भी की। जबकि उनके दौरे की जानकारी होने के कारण ही मोदीनगर तहसील की एसडीएम सौम्या पांडे ने उनके भ्रमण को लेकर मोदीनगर पालिका के ईओ सहित तीनों नगर पंचायत निवाड़ी, पतला, फरीदनगर के अधिशासी अधिकारियों को नोटिस देकर सचेत किया था।

दिल्ली-एनसीआर में नंबर दो पर प्रदूषित शहर गाजियाबाद को लेकर वायु प्रदूषण का स्तर दो गुणा हो गया है, एक्यूआई 322 तक पहुंच जाने को लेकर उसकी रोकथाम के लिये ईपीसीए के चेयरमैन लगातार बैठक कर रहे हैं। उनके निर्देश पर डीएम अजयशंकर पांडेय ने औद्योगिक इकाइयों पर नकेल कसने के जुर्माना लगाने की योजना बनाई है।
 पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण नई दिल्ली के चेयरमैन डॉ. भूरेलाल ने टीम के साथ दिल्ली से मेरठ जाते वक्त जिले में कई स्थानों पर प्रदूषण की फोटोग्राफी को कैमरे में कैद कर जब जिले के अधिकारियों को दिखाकर सवाल किया तो अफसरों से जवाब देते नहीं बना। उन्होंने अधिकारियों से नाइट पेट्रोलिंग कार्रवाई की जानकारी मांगी तो जिले के अधिकारी जवाब नहीं दे पाए।

जबकि मोदीनगर तहसील की एसडीएम सौम्या पांडे ने इस बाबत मोदीनगर पालिका परिषद के अलावा तीनों नगर पंचायत निवाड़ी, पतला, फरीदनगर के अधिशासी अधिकारियों को नोटिस जारी कर प्रदूषण को लेकर सचेत किया था। उसके बावजूद ईपीसीए के चेयरमैन डा. भूरेलाल की टीम ने जब क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यो के चलते तथा कूड़े के ढेर और कूड़ा जल रहा है, मुझे दिखाई दिया तो अधिकारियों को क्यों नहीं दिखाई दे रहा है।
18 को डीएम व विभागीय अधिकारियों के साथ करेंगे बैठक : प्रदूषण को लेकर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की सक्रियता के चलते एक्यूआई में दो दिन से गिरावट आई है, सामाजिक संगठनों के साथ ही निजी तकनीकी कॉलेजों के छात्रों के सहयोग से बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम को लेकर भी योजना पर काम चल रहा है। निर्माण कार्यों में तेजी है, इसे लेकर ही 18 अक्टूबर की दोपहर प्रदूषण पर समीक्षा बैठक होगी, इसमें एसपी देहात, एसडीएम लोनी, प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी, परियोजना प्रबंधक,  जल निगम, लोनी व खोड़ा नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी व एडीएम सिटी उपस्थित रहेंगे।

नाइट पेट्रोलिंग के आदेश : पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण नई दिल्ली के चेयरमैन डॉक्टर भूरेलाल ने निर्देश दिए कि फैक्ट्रियों में रात में प्लास्टिक रबर काला आयल झौका जाता है, इसे रोकने के लिए उन्होंने प्रशासनिक प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को नाइट पेट्रोलियम कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

वायु प्रदूषण से होने वाली मौतों को रोक सकते हैं 25 फीसदी : डॉ. भूरे लाल ने कहा कि वायु प्रदूषण से विश्व में मरने वालों की संख्या अधिक है। इनमें सबसे ज्यादा भारत- चीन में मौत होती हैं। अगर हम सभी नियमों का पालन करें तो इनमें से 25 फीसदी को रोका जा सकता है। डीएम ने बताया कि जिले में इलेक्ट्रिक बस शहर के लिए आ रही हैं। सरकार की ओर से बसों की उपलब्धि के साथ इन बसों का संचालन होगा। प्रदूषण का स्तर मापने के लिए यंत्र स्थापित कराये जाएंगे। प्रदूषण की रोकथाम को लेकर जनसहभागिता के जरिए भी सर्वे कराया जा रहा है।

डॉ. भूरेलाल ने क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से कहा कि जिले में स्थित मोदी चीनी चीनी मिल चालू होने वाली है। चीनी मिल पर प्रदूषण की रोकथाम को लेकर वेट स्क्रबर लगवाना सुनिश्चित करें ताकि चिमनी से राख न उड़ सके। राख उड़कर लोगों के घरों में पहुंचती है और इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। बहरहाल लाइनपार क्षेत्र के लोगों का इस राख के कारण खाने-पीने से लेकर कपड़े पहनना तक दुश्वार है।

बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर दस साल पुराने डीजल एवं 15 साल पुराने पेट्रोल वाहन प्रयोग पर प्रतिबन्धित है, जिसे लेकर सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) व यात्री मालकर अधिकारी को अभियान चलाकर कार्यवाही करने को कहा गया है, बिना फिटनेस प्रमाण पत्र व बिना प्रदूषण प्रमाण पत्र के वाहन चालकों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

 पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण (ईपीसीए) नई दिल्ली के चेयरमैन डॉ भूरेलाल ने गाजियाबाद के आस पास की प्रदूषण से जुडी तस्वीरों को कैमरें में कैद कर जब तस्वीर दिखानी शुरू की तो प्रदूषण नियंत्रण विभाग के अधिकारियों के आंकड़ों की जादूगरी फेल हो गयी

कर्मचारियों ने जो फाइल बनायीं थी व निकली झूठी लेकिन उन्होंने कुछ अधिकारियों की कार्यवाही के ब्यौरे की रिपोर्ट की तारीफ भी की। जबकि उनके दौरे की जानकारी होने के कारण ही मोदीनगर तहसील की एसडीएम सौम्या पांडे ने उनके भ्रमण को लेकर मोदीनगर पालिका के ईओ सहित तीनों नगर पंचायत निवाड़ी, पतला, फरीदनगर के अधिशासी अधिकारियों को नोटिस देकर सचेत किया था।

दिल्ली-एनसीआर में नंबर दो पर प्रदूषित शहर गाजियाबाद को लेकर वायु प्रदूषण का स्तर दो गुणा हो गया है, एक्यूआई 322 तक पहुंच जाने को लेकर उसकी रोकथाम के लिये ईपीसीए के चेयरमैन लगातार बैठक कर रहे हैं। उनके निर्देश पर डीएम अजयशंकर पांडेय ने औद्योगिक इकाइयों पर नकेल कसने के जुर्माना लगाने की योजना बनाई है।
 पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण नई दिल्ली के चेयरमैन डॉ. भूरेलाल ने टीम के साथ दिल्ली से मेरठ जाते वक्त जिले में कई स्थानों पर प्रदूषण की फोटोग्राफी को कैमरे में कैद कर जब जिले के अधिकारियों को दिखाकर सवाल किया तो अफसरों से जवाब देते नहीं बना। उन्होंने अधिकारियों से नाइट पेट्रोलिंग कार्रवाई की जानकारी मांगी तो जिले के अधिकारी जवाब नहीं दे पाए।

जबकि मोदीनगर तहसील की एसडीएम सौम्या पांडे ने इस बाबत मोदीनगर पालिका परिषद के अलावा तीनों नगर पंचायत निवाड़ी, पतला, फरीदनगर के अधिशासी अधिकारियों को नोटिस जारी कर प्रदूषण को लेकर सचेत किया था। उसके बावजूद ईपीसीए के चेयरमैन डा. भूरेलाल की टीम ने जब क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यो के चलते तथा कूड़े के ढेर और कूड़ा जल रहा है, मुझे दिखाई दिया तो अधिकारियों को क्यों नहीं दिखाई दे रहा है।
18 को डीएम व विभागीय अधिकारियों के साथ करेंगे बैठक : प्रदूषण को लेकर जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय की सक्रियता के चलते एक्यूआई में दो दिन से गिरावट आई है, सामाजिक संगठनों के साथ ही निजी तकनीकी कॉलेजों के छात्रों के सहयोग से बढ़ते प्रदूषण की रोकथाम को लेकर भी योजना पर काम चल रहा है। निर्माण कार्यों में तेजी है, इसे लेकर ही 18 अक्टूबर की दोपहर प्रदूषण पर समीक्षा बैठक होगी, इसमें एसपी देहात, एसडीएम लोनी, प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी, परियोजना प्रबंधक,  जल निगम, लोनी व खोड़ा नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी व एडीएम सिटी उपस्थित रहेंगे।

नाइट पेट्रोलिंग के आदेश : पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण नई दिल्ली के चेयरमैन डॉक्टर भूरेलाल ने निर्देश दिए कि फैक्ट्रियों में रात में प्लास्टिक रबर काला आयल झौका जाता है, इसे रोकने के लिए उन्होंने प्रशासनिक प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को नाइट पेट्रोलियम कर कार्रवाई के निर्देश दिए।

वायु प्रदूषण से होने वाली मौतों को रोक सकते हैं 25 फीसदी : डॉ. भूरे लाल ने कहा कि वायु प्रदूषण से विश्व में मरने वालों की संख्या अधिक है। इनमें सबसे ज्यादा भारत- चीन में मौत होती हैं। अगर हम सभी नियमों का पालन करें तो इनमें से 25 फीसदी को रोका जा सकता है। डीएम ने बताया कि जिले में इलेक्ट्रिक बस शहर के लिए आ रही हैं। सरकार की ओर से बसों की उपलब्धि के साथ इन बसों का संचालन होगा। प्रदूषण का स्तर मापने के लिए यंत्र स्थापित कराये जाएंगे। प्रदूषण की रोकथाम को लेकर जनसहभागिता के जरिए भी सर्वे कराया जा रहा है।

डॉ. भूरेलाल ने क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों से कहा कि जिले में स्थित मोदी चीनी चीनी मिल चालू होने वाली है। चीनी मिल पर प्रदूषण की रोकथाम को लेकर वेट स्क्रबर लगवाना सुनिश्चित करें ताकि चिमनी से राख न उड़ सके। राख उड़कर लोगों के घरों में पहुंचती है और इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। बहरहाल लाइनपार क्षेत्र के लोगों का इस राख के कारण खाने-पीने से लेकर कपड़े पहनना तक दुश्वार है।

बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर दस साल पुराने डीजल एवं 15 साल पुराने पेट्रोल वाहन प्रयोग पर प्रतिबन्धित है, जिसे लेकर सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रवर्तन) व यात्री मालकर अधिकारी को अभियान चलाकर कार्यवाही करने को कहा गया है|