Home Uncategorized आतंक और आतंकियों के विरुद्ध में लड़ाई जारी है : अमित...

आतंक और आतंकियों के विरुद्ध में लड़ाई जारी है : अमित शाह

149
The Union Home Minister, Shri Amit Shah with the NSG personnel, at the NSG Raising Day celebrations, in Manesar, Haryana on October 15, 2019.

नई दिल्ली/गुरुग्राम, आतंक और आतंकियों के विरुद्ध हमारी लड़ाई अभी तक टिकी हुए है  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा है कि सरकार आतंकवाद के खिलाफ ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर अडिग है और इसी के तहत अब आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जा रही है।अमित  शाह ने मंगलवार को हरियाणा के गुरुग्राम के मानेसर में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 35वें स्थापना दिवस पर अपने संबोधन में यह कहा कि आतंकवाद  हमारे और राष्ट्र के विकास मे सबसे बड़ा  अभिशाप है। अमित शाह ने कहा है  कि भारत इससे लंबे समय से अभिशप्त है और इसके खात्मे के लिए काफी लम्बे  लड़ाई लड़ रहा है। सरकार आतंकवाद के खात्मे के लिए ‘जीरो टॉलरेंस’ की नीति पर अडिग है और आतंकवाद से निपटने के लिए वह  किसी तरह की भी कसर नहीं छोड़ेगी।

अमित शाह ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि भारत लंबे समय से पाकिस्तान प्रेरित आतंकवाद से पीड़ित रहा है। और अमित शाह  का कहना की अब सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाकर वहां चिरकालीन शांति स्थापित करने की दिशा में बड़ा और महत्वपूर्ण कदम उठाया है। अमित शाह ने कहा की  एनएसजी और अन्य सुरक्षा बल आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ रहे हैं। श्री शाह ने कहा कि एनएसजी के कमांडो की बहादुरी और साहस के कारनामे देखकर उन्हें विश्वास है कि निर्णायक लड़ाई में देश की जीत होगी। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री के नाते वह लोगों को विश्वास दिलाना चाहते हैं कि एनएसजी के अभेद्य कौशल के कारण देश की आंतरिक सुरक्षा पर किसी भी प्रकार की  कोई आंच नहीं आएगी क्योंकि हमारे जाबांज कमांडों किसी भी खतरे से निपटने में पूरी तरह सक्षम हैं। श्री शाह ने उल्लेखनीय योगदान देने वाले बल के जवानों और अधिकारियों को पदकों से सम्मानित किया तथा बल के शहीद जाबांजों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर एनएसजी के कमांडो ने विभिन्न आपात स्थितियों में आतंकवादियों केे खिलाफ अपने कौशल का प्रदर्शन किया। एनएसजी के महानिदेशक,  एस एस देशवाल ने श्री शाह को स्मृति चिन्ह तोहफे क्र रूप मे दिया था|